Blog Detail

Covid-19 Tracker Ask Question

preview image Informational
by jitender yadav, Aug 21, 2020, 1:55:53 AM | 3 minutes |

नेहरू ने AIIMS बनवाया, आइये कांग्रेस के इस बड़े झूठ का पोस्टमॉर्टेम करते हैं

आखिर कांग्रेस और कितना बेवकूफ बनाएगी देश को।
AIIMS की स्थापना में पंडित नेहरू का कोई योगदान नहीं था, एम्स कपूरथला की राजकुमारी अमृत कौर अहलूवालिया नें बनवाया था। नेहरू ने तो फंड की कमी का हवाला देकर मना कर दिया था।

अमृत कौर नें देशों से फंडिंग का इंतजाम किया और एम्स निर्माण के लिए अपनी 100 एकड़ पैतृक जमीन भी बेंच दी थी।

आजकल हर कांग्रेसी यह जरूर कहता है कि एम्स तो नेहरू ने बनवाया था। जब भी अमित शाह एम्स में या बीजेपी का कोई नेता एम्स में भर्ती होता है तब कांग्रेसी यह तंज जरूर करते हैं कि नेहरू के बनवाए अस्पताल में भर्ती हुए

 जबकि सच्चाई कुछ और है 

एम्स की स्थापना में नेहरू का कोई भी योगदान नहीं था।
 एम्स राजकुमारी अमृत कौर अहलूवालिया ने बनवाई थी जो कपूरथला राज परिवार से थीं।

 राजकुमारी अमृत कौर लंदन में पढ़ाई के दौरान ही ईसाई मिशनरियों के संपर्क में आने से कैथोलिक बन गई थीं। जलियांवाला बाग हत्याकांड में इनके मन में अंग्रेजों के प्रति नफरत हुई और यह देश की आजादी की लड़ाई से जुड़ गईं। यह 17 सालों तक महात्मा गांधी की निजी सचिव थीं।

 देश की आजादी के बाद यह भारत की पहली स्वास्थ्य मंत्री बनी थीं। इन्होंने जब नेहरू के सामने एक ऐसा हॉस्पिटल बनाने का प्रस्ताव रखा जो बेहद बेजोड़ हो तब नेहरू ने फंड की कमी का हवाला देकर मना कर दिया था। 

क्योंकि राजकुमारी अमृत कौर ईसाई मिशनरियों से जुड़ी थीं, खुद कैथोलिक थीं  और लंदन, जर्मनी व ऑस्ट्रिया में रही थीं इसलिए उन्होंने लंदन, जर्मनी, ऑस्ट्रिया, न्यूजीलैंड, अमेरिका और कनाडा जैसे देशों से फंडिंग का इंतजाम किया। इतना ही नहीं उन्होंने अपनी 100 एकड़ पैतृक जमीन भी बेच दी.... और इस तरह एम्स का निर्माण हुआ। 

बाद में उन्होंने अपना मनाली और शिमला का आलीशान बंगला भी एम्स को दान कर दिया ताकि एम्स में काम करने वाले डॉक्टर और नर्स छुट्टियां मनाने के लिए वहां रुक सकें।

Comments (0)

Leave a comment